मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

पुलवामा में पत्नी-बेटे की पुकार सुनकर भी आतंकी ने नहीं किया सरेंडर, मुठभेड़ में मारा गया

 Sudarshan News Beuro |  2017-03-10 09:49:13.0

पुलवामा में पत्नी-बेटे की पुकार सुनकर भी आतंकी ने नहीं किया सरेंडर, मुठभेड़ में मारा गया

श्रीनगर : बुधवार देर रात सुरक्षा बलों को जानकारी मिली थी कि पुलवामा के गांव पदगामपोरा में दो लश्कर आतंकी एक मकान में छिपे हुए हैं। बुधवार देर रात पडगमपोरा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में दो लश्कर आतंकी मारे गए।

बता दें कि ये मुठभेड़ बुधवार रात से चल रही थी। इस दौरान सुरक्षाबलों ने कई बार आतंकियों से सरेंडर करने की अपील की। यहां तक की लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी शफीक शेरगुजारी के सरेंडर के लिए सेना उसके परिवारवालों को मुठभेड़ वाली जगह तक लेकर आई। रोते-बिलखते हुए उसने पति को आवाज लगाई कि बाहर आओ, अपने बेटे को बाहों में लो, वह आपको बहुत याद करता है। वह अपने साथ पांच वर्षीय बेटे को भी लाई थी जो जोर-जोर से रो रहा था, लेकिन वह न माना।


साथ ही सेना ने शफीक की पत्नी दिलशादा को यह भरोसा दिलाया था कि अगर वह सरेंडर करता है तो उसको कुछ नहीं होगा। इसी मकसद से दिलशादा ने लाउडस्पीकर पर अपने पति से सरेंडर की अपील की लेकिन वह बाहर नहीं आया और रुक-रुककर फायरिंग करता रहा। इसके बाद सेना ने जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। शफीक मारा गया। मारे गए दूसरे आतंकी की पहचान लश्कर-ए-तैयबा के जहांगीर अहमद गनी के रूप में की गई है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top