मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

गायत्री प्रजापति को बड़ा झटका, गिरफ्तारी पर रोक से सुप्रीम कोर्ट ने किया इनकार

 Sudarshan News Beuro |  2017-03-06 08:13:44.0

गायत्री प्रजापति को बड़ा झटका, गिरफ्तारी पर रोक से सुप्रीम कोर्ट ने किया इनकार

नई दिल्ली : गैंगरेप और यौनशोषण के मुकदमे में भगोड़ा घोषित हो चुके गायत्री प्रसाद प्रजापति को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमने सिर्फ एफआईआर दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए थे। हमने न तो गिरफ्तारी के आदेश दिए और न ही वारंट जारी किए। अगर निचली अदालत ने गैर जनानती वारंट हासिल किए हैं तो गायत्री प्रजापति कोर्ट में जाकर इसे चुनौती दें।

कोर्ट इस मामले में कोई आदेश जारी नहीं करेगा। कोर्ट ने कहा कि इस मामले में वह जमानत या किसी भी तरीके के कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल कर सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा की हम अपना आदेश पारित कर चुके हैं, यदि यूपी पुलिस चाहेगी तो वह गायत्री को गिरफ्तार कर सकती है। इस पर सुप्रीम कोर्ट की तरफ से कोई रोक नहीं है। बताया जा रहा है कि पुलिस को गायत्री प्रजापति की लोकेशन दिल्ली में मिली है।

यूपी पुलिस की एक टीम मौजूद है। उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। पता चला है कि गायत्री सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका पर सुनवाई के दौरान वकीलों के संपर्क में रहेगा, इसलिए वह शनिवार रात को दिल्ली पहुंचा था। हालांकि, पुलिस को यह पता नहीं चला है कि वह दिल्ली में किसकी शरण में है।

वहीं, पुलिस गायत्री प्रजापति की संपत्ति भी कुर्क करने की तैयारी में है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी पुलिस ने गायत्री प्रजापति और उनके सहयोगियों अशोक तिवारी, पिंटू सिंह, विकास शर्मा, चंद्रपाल, रूपेश और आशीष शुक्ला के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 376डी, 511, 504, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज किया।

रेप पीड़िता के आरोप के मुताबिक, साल 2014 में नौकरी और प्लॉट दिलाने के बहाने गायत्री ने उसे लखनऊ स्थित आवास पर बुलाया। पीड़िता ने अपनी शिकायत में कहा है कि गायत्री के आवास पर चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया गया, इसके बाद वह होश खो बैठी। बेहोशी की हालत में मंत्री और उसके सहयोगी ने गैंगरेप किया था। इसका अश्लील वीडियो बनाया था।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top