मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

एमसीडी चुनावों पर सीएम केजरीवाल की मांग, EVM से नहीं बैलट पेपर से हो चुनाव

 Sudarshan News Beuro |  2017-03-14 09:14:49.0

एमसीडी चुनावों पर सीएम केजरीवाल की मांग, EVM से नहीं बैलट पेपर से हो चुनाव

नई दिल्ली : गोवा और पंजाब मं हार मिलने के बाद ईवीएम मशीन पर संदेह जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बैलेट पेपर से MCD चुनाव कराने को लेकर अपनी सरकार के मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। पत्र में लिखा है कि वो दिल्ली चुनाव आयोग को बैलेट पेपर से चुनाव कराने के निर्देश दें और इस बार का MCD चुनाव ईवीएम से नहीं होने चाहिए। इसलिये आज शाम तक इसके लिए जो भी औपचारिकताएं हैं वो पूरी की जाएं और निगम चुनाव बैलट पेपर से कराये जाएं।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि यूपी में भी नगर पालिका और नगर पंचायत के चुनाव बैलट पेपर से होते हैं। संजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस, बसपा और दूसरी पार्टियों को भी ईवीएम पर संदेह है, यही नहीं बीजेपी जब तक विपक्ष में थी तब तक उसके नेता और समर्थक EVM पर सवाल उठाते थे तो ऐसे में बैलट पेपर से चुनाव कराने में क्या हर्ज है? दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार है और निगम चुनाव कराने की ज़िम्मेदारी उसकी है लेकिन इसके लिए उपराज्यपाल की मंज़ूरी चाहिए होगी।


बता दें कि दिल्ली में MCD के चुनाव अप्रैल में होंगे। राज्य चुनाव आयोग तारीखों का ऐलान आज कर सकता है। वहीं, उत्तर प्रदेश में करारी हार के बाद जहां सपा, बसपा तो बौखलाई हुई नजर आ ही रही है। अब कांग्रेस की हार की हताशा भी सामने आने लगी है। यही वजह है कि सपा-बसपा के साथ-साथ अब कांग्रेस ने भी ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। मायावती और अखिलेश यादव के बाद अब दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा है कि एमसीडी चुनाव, ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर के जरिए कराये जाए।

कांग्रेस नेता अजय माकन ने ट्वीट कर कहा कि कई लोग ईवीएम से होने वाले चुनाव पर सवाल उठा रहे हैं। ऐसे में अरविंद केजरीवाल से अपील है कि वो निष्पक्ष और निर्विवाद चुनाव के लिए बैलेट पेपर के जरिए चुनाव कराएं। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद जिन पार्टियों के हिस्से हार लगी है, हार को पचा नहीं पा रही है और यही वजह है कि हर हारी हुई पार्टी बीजेपी पर ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगा रही है और आरोपों की शुरुआत उत्तर प्रदेश में तीसरे नंबर की पार्टी बनकर उभरी बीएसपी की सुप्रीमों मायावती ने शुरू की। जिसके बाद सपा और कांग्रेस भी उनके सुर में सुर मिलाती नजर आ रही है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top