मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

पीएम मोदी ने शिव की 112 फीट ऊंची प्रतिमा का किया अनावरण, कहा- योग करने से एकात्म की भावना पैदा होती है

 Sudarshan News Beuro |  2017-02-25 05:46:26.0

पीएम मोदी ने शिव की 112 फीट ऊंची प्रतिमा का किया अनावरण, कहा- योग करने से एकात्म की भावना पैदा होती है

कोयंबटूर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ईशा योग फाउंडेशन की तरफ से आयोजति समारोह में योग के महत्व को बताते हुए कहा कि इसे करने से एकात्म की भावना आती है। योग की प्राचीन भारतीय विद्या की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने प्रकृति के संरक्षण के प्रयासों का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि मानव गतिविधियों को इस तरह ढालना चाहिए ताकि वे पारस्थितिकीय परिवेश के अनुकूल हो सकें। मोदी ने विविधता में एकता को भारतीय संस्कृति की विशेषता और मजबूती करार दिया।

बता दें कि इससे पहले पीएम मोदी ने महाशिवरात्रि के मौके पर भगवान शिव की 112 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया। विशाल प्रतिमा का अनावरण करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि भगवान शिव हर जगह हैं। उन्होंने भगवान शिव के वाहन बैल और शिव के पुत्र गणपति एवं कार्तिक के वाहन मोर और चूहे का जिक्र किया। उन्होंने शांतिपूर्ण सह—अस्तित्व का महत्व बताने के लिए शिव की गर्दन में लिपटे वासुकी नाम के जहरीले सांप का भी जिक्र किया।

योग की प्राचीन विद्या की सराहना करते हुए मोदी ने कहा कि 'योग करने से एकात्म की भावना पैदा होती है। मस्तिष्क, शरीर और बुद्धिमता के एकात्म, हमारे परिवारों और समाजों का एकात्म, साथ रहने वाले मनुष्यों, पशु-पक्षियों और वृक्षों के साथ एकात्म। गौरतलब है कि कुछ संगठनों ने पीएम की यात्रा का विरोध भी किया। कई संगठनों के करीब 500 लोगों को उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया जब उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की यात्रा के दौरान उनके खिलाफ प्रदर्शन करने की कोशिश की।

पुलिस ने कहा कि मोदी जब एक हेलीकॉप्टर से प्रतिमा के अनावरण कार्यक्रम में जा रहे थे उस वक्त कुछ प्रदर्शनकारियों ने काले गुब्बारे भी हवा में छोड़े। प्रदर्शनकारियों ने प्रतिमा के निर्माण के लिए आदिवासियों की जमीन कथित तौर पर अतिक्रमित करने के लिए ईशा योग के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने और किसानों के हितों की रक्षा नहीं करने को लेकर पीएम के खिलाफ नारेबाजी भी की।

यहां एक तहसीलदार कार्यालय के सामने किए गए प्रदर्शन में उन्होंने केरल द्वारा भवानी नदी पर चेक डैमों का निर्माण कार्य रोकने की खातिर केंद्र के दखल की मांग भी की। द्रविड़ कड़गम, टीपीडीके, टीएमसी, एमडीएमके, वीसीके, आरवाईएफ, एसडीपीआई और फेडरेशन ऑफ तमिलनाडु फार्मर्स असोसिएशन सहित कई संगठनों के करीब 500 कार्यकतार्ओं ने प्रदर्शनों में हिस्सा लिया। पुलिस ने कहा कि इन सभी को गिरफ्तार कर लिया गया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top