मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

केजरीवाल सरकार ने पेश किया तीसरा बजट, सिसोदिया ने कहा- नोटबंदी के बावजूद दिल्ली की जीडीपी बढ़ी है

 Sudarshan News Beuro |  2017-03-08 08:30:59.0

केजरीवाल सरकार ने पेश किया तीसरा बजट, सिसोदिया ने कहा- नोटबंदी के बावजूद दिल्ली की जीडीपी बढ़ी है

नई दिल्ली : दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने आज विधानसभा में तीसरा बजट पेश किया। डिप्टी सीएम और फाइनेंस मिनिस्टर मनीष सिसोदिया ने बजट पेश करते हुए बताया कि इस बजट को हमने प्लान और नॉन प्लान जैसे परंपरागत सांचों से निकाल कर तैयार किया है। बजट को कैपिटल और रेवेन्यू दो हिस्सों में बंटा गया है।

सिसोदिया ने बताया कि अब EWS कोटे में एडमिशन लेने के लिए रेफरेंस की जरूरत नहीं होती। सिसोदिया ने बताया कि उस सिस्टम को खत्म कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि सिर्फ दिल्ली ही नही नेशनल और इंटरनेशनल लेवल सरकार के कामों के प्रति लोगों की उत्सुकता बनी है। बेघरों के लिए 10 रैनबसेरों कौशल विकास का काम शुरू किया।


सिसोदिया ने कहा कि नोटबंदी के बावजूद दिल्ली की जीडीपी बढ़ी है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि नोटबंदी की वजह से दिल्ली को काफी नुकसान हुआ। आर्थिक सर्वेक्षण के मुताबिक, दिल्ली का आर्थिक विकास 2016-17 में 8.26 प्रतिशत रही। जो कि पिछले साल 8.82 प्रतिशत रही थी।

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार के स्कूलों के लिए 182 करोड़ रुपए फालतू दिए जाएंगे जिससे स्टूडेंट्स के लिए ज्यादा कंप्यूटर खरीदे जा सकें। टीचर्स को टैबलेट भी दिया जाएगा जिससे वे स्टूडेंट के प्रोग्रेस पर नजर रख सकेंगे। उन्होंने बताया कि बस डीपो और टर्मिनल के विकास के लिए 100 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। इसके अलावा कॉरिडोर बनाने के लिए भी सलाहकार नियुक्त किए जाएंगे।

और क्या था सिसोदिया के भाषण में-

2017-18 के लिए उनका बजट अनुमान 48 हजार करोड़ रुपए है। पिछले साल यह 46,600 करोड़ रुपए था।

MCD को 7571 करोड़ रुपए दिए गए जो कि कुल बजट का 15 प्रतिशत था।

चाइल्ड हुड सेंटर लाइब्रेरी खोली जाएगी। 400 नई लाइब्रेरी बनाने की बात भी कही गई। उसके लिए 100 करोड़ रुपए देने की बात भी कही गई।

मिड डे मील में उबले अंडे और केले दिए जाएंगे।

नर्सरी से पांचवी तक के लिए 10,000 नए कमरे बनेंगे। 8 हजार कमरों का बनाने का काम पूरा किया जा चुका है।

वरिष्ठ नागरिक की पेंशन में एक हजार की बढ़ोतरी हुई।

दिव्यांगों व विधवाओं के लिए पेंशन 2,500 रुपए किया।

कुशल और अर्धकुशल मजदूरों के वेतन में बढ़ोतरी, गेस्ट टीचर्स के वेतन में बढ़ोतरी की गई।

मोहल्ला क्लिनिक और रैनबसेरों को जोड़ कर बेघरों को मेडिकल सुविधाएं दिलाने की पहल की है।


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top