मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

बेहद खतरनाक थे सैफुल्लाह के मंसूबे, शव के पास से आईएसआईएस का झंडा हुआ बरामद

 Sudarshan News Beuro |  2017-03-08 05:53:46.0

बेहद खतरनाक थे सैफुल्लाह के मंसूबे, शव के पास से आईएसआईएस का झंडा हुआ बरामद

लखनऊ : लखनऊ में तकरीबन 12 घंटे चला एनकाउंटर खत्म हो गया। 12 घंटे चले आतंकवाद रोधी आपरेशन के बाद आज तड़के एक संदिग्ध आतंकी मारा गया। मिली जानकारी के मुताबिक, उस शख्स का नाम सैफुल्ला था। सैफुल्ला कानपुर का ही रहने वाला था। वह शख्स आतंकी संगठन आईएसआईएस से जुड़ा हुआ था। इस वजह से इस हमले को देश में आईएस का पहला हमला कहा जा रहा है।

ऑपरेशन रात को तकरीबन तीन बजे खत्म हुआ था। ऑपरेशन के बीच में एटीएस और पुलिस को लगा कि घर में एक नहीं बल्कि दो आतंकी हैं। लेकिन ऑपरेशन खत्म होने पर एक ही बॉडी बरामद हुई। उसने सुरक्षा बल के जवानों पर गोलियां चलाई थीं। इसके बाद आस-पास के इलाके को खाली करवा लिया गया। इसके साथ ही पुलिस ने मकान में दो संदिग्ध आतंकियों के छिपे होने की पूर्व में आई खबरों को खारिज कर दिया।


एटीएस ने आतंकी को जिंदा पकडऩे का प्रयास किया, लेकिन करीब 12 घंटे के बाद उसको मुठभेड़ में ढेर किया। आइजी ने बताया कि आज सुबह करीब सवा छह बजे आतंकी सैफुल्लाह के शव पोस्टमार्टम के लिए को भेजा गया। इसके बाद मकान की तलाशी ली गई। वहां मिले सामान से पता चलता है कि आतंकी किसी बडी वारदात की तैयारी में थे।

पुलिस को उसके पास से पिस्टल, रिवॉल्वर, चाकू आदि सामान मिला। उस शख्स के पास से आतंकी संगठन आईएसआईएस का झंडा भी मिला है। उसके पास 2000 रुपए के कुछ नए नोट भी थे। इसके अलावा उसके पास से टाइम टेबल लिखे हुए दो कागज भी बरामद हुए हैं। उसमें लिखा है कि वह किस टाइम पर क्या किया करता था। उसके पास से बम बनाने का सामान भी बरामद किया गया है।

गौरतलब है कि मारे गए आतंकी के तार मध्यप्रदेश में ट्रेन में हुए ब्लास्ट से जुड़े। लखनऊ के दुबग्गा में कल देर रात करीब ढाई-तीन बजे एटीएस ने एनकाउंटर में आतंकी को ढेर कर दिया। भोपाल-उज्जैन पैसेंजर में बम विस्फोट का आरोपी आतंकी सैफुल्लाह हाजी कालोनी में छिपा था। कल शाम करीब तीन बजे एटीएस ने घर की घेरेबंदी कर आतंकी को पकडऩे का ऑपरेशन शुरू किया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top