मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

जन्मदिवस, बलिदानी कर्नल गुरबीर सिंह सरना...

 Sudarshan News Beuro |  2017-03-10 06:08:00.0

जन्मदिवस, बलिदानी कर्नल गुरबीर सिंह सरना...

गोलियाँ लगने के बाद भी 4 दुर्दान्त आतंकियों को मार रही अपनी सैन्य टुकड़ी का साथ ना छोड़ने वाले, कश्मीर के बारामूला क्षेत्र के बरहमपुर गाँव में 23 दिसम्बर 2006 को 4 खूँखार आतंकियों को मारकर स्वयं सदा के लिए अमर हो कर शौर्य, वीरता व् पराक्रम की एक नई गाथा लिख गये अमर बलिदानी व् मरणोपरांत कीर्ति चक्र विजेता कर्नल गुरबीर सिंह सरना को आज उनके जन्म दिवस अर्थात 10 मार्च को। सुदर्शन न्यूज की तऱफ से शत शत नमन, वन्दन व् अभिनन्दन।

10 मार्च 1966 को जन्मे कर्नल सरना 29 राष्ट्रीय रायफल्स के कमांडिंग अधिकारी थे। उस दुर्भाग्यपूर्ण रात को कर्नल सरना अपनी " QRT" (त्वरित कार्य बल) के साथ कश्मीर के बारामूला स्थित बहरमपुर गाँव पहुंचे। यह अभियान गाँव में चार खूंखार आतंकवादियों के होने की सूचना के आधार पर चलाया गया।


गाँव को राष्ट्रीय राइफल्स के वीरों द्वारा घेर कर तलाशी शुरू हुई, कर्नल सरना तलाशी अभियान की अगुआई स्वयं कर रहे थे। तलाशी के दौरान उन्होने एक घर में पनाह लिए आतंकवादियों को देखा और सेना और आतंकियों के बीच भीषण गोलाबारी शुरू हो गयी।

इस मुठभेड़ में सबसे आगे नेतृत्व कर रहे कर्नल सरना को कई गोलियां लगी, बहुत खून बहने पर भी वह अपनी टीम के साथ वहीँ डटे रहे। इस मुठभेड़ में कर्नल सरना के नेतृत्व में उस गाँव में पनाह लिए कुल 4 आतंकी मारे पर बहुत ख़ून बहने के कारण अंत में वीर कर्नल सरना भी मातृभूमि की रक्षा करते हुए बलिदान हुए।

भारत की अखंडता पर प्राण न्यौछावर करने वाले माँ भारती के अमर बलिदानी को आज उनके जन्म दिवस दिवस पर शत्-शत् नमन, वंदन व् अभिनंदन। कभी बुरहान के लिए खड़े होने वाले, कभी सैफुल्लाह के लिए चिल्लाने वाले व् कभी पत्थरबाजों को मासूम बताने वाले तथाकथित राजनेताओं से निवेदन है कि वो एकाध बार कर्नल सरना जैसे वीरों की भी गौरवगाथा पढ़ कर याद कर लिया करें, शायद उन्हें कुछ सद्बुद्धि आ जाए।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top