मुख्य समाचार
  • Breaking News Will Appear Here

मलेशियाई नागरिकों के उत्तर कोरिया छोड़ने पर रोक, एक दूसरे के देशों के लोगों को बनाया बंधक

 Sudarshan News Beuro |  2017-03-07 08:47:47.0

मलेशियाई नागरिकों के उत्तर कोरिया छोड़ने पर रोक, एक दूसरे के देशों के लोगों को बनाया बंधक

सोल : तानाशाह किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग-नाम की हत्या को लेकर मलेशिया और उत्तर कोरिया में विवाद हो गया है। दोनों देशों के कूटनीतिक झगड़े में उस वक्त एक नया मोड़ आ गया जब उत्तर कोरिया ने अपने यहां मौजूद मलेशियाई लोगों के देश छोड़ने पर रोक लगा दी।

गृह मंत्रालय ने किम जोंग-नाम की हत्या पर बढ़े विवाद के बीच एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया के दूतावास के किसी भी अधिकारी या कर्मी को देश से बाहर जाने की अनुमति नहीं है। इस बयान में राष्ट्रीय संवाद समिति बेरनामा के इससे पहले किए गए ट्वीट को स्पष्ट किया गया है, जिसमें कहा गया था कि मलेशिया में सभी उत्तर कोरियाई नागरिकों पर प्रतिबंध लगाया गया है।


जवाब में मलेशिया ने भी उत्तर कोरियाई दूतावास के लोगों को देश न छोड़ने के लिए कहा है। मलेशिया की दलील है, 'ऐसा किए जाने की ज़रूरत' है। वहीं, एजेंसी ने कहा कि यह प्रतिबंध तब तक लागू रहेगा, जब तक मलेशिया में हुई घटना के उचित निपटान के जरिए मलेशिया में रहने वाले उत्तर कोरिया के राजनयिकों और नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं कर दी जाती।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया के राष्ट्रपति किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नम की हत्या कर दी गई थी। मलयेशिया पुलिस ने इस आरोप में गिरफ्तार उत्तर कोरियाई नागरिक को सबूतों के अभाव के चलते रिहा कर दिया है। लेकिन बाद में उसे रिहा कर दिया गया।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top